दादी प्रकाशमणिजी की 13वीं पुण्यतिथि आज ‘विश्व बंधुत्व दिवस’ के रूप में मनाई जाएगी

इन्दौर अंतर्राष्ट्रीय आध्यात्मिक संस्थान प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज़ ईश्वरीय विश्वविद्यालय की मुख्य प्रशासिका रही दादी प्रकाशमणिजी का 13वॉं पुण्य स्मरण दिवस संस्था के विश्व भर में स्थित सेवा केन्द्रों पर ‘विश्व बंधुत्व दिवस’ के रूप में मनाया जायेगा। दादीजी के प्रेरक व्यक्तित्व एवं कृत्तित्व की मधुर स्मृतियों को स्मरण करने तथा उनका अनुकरण करने के लिए इन्दौर में 25 अगस्त को संध्या 6.00 बजे ऑनलाइन वेबिनार का आयोजन किया गया है। इस वेबिनार का विषय है “पारस्पारिक सद्भाव से विश्व बंधुत्व” रखा गया है। उक्त जानकारी देते हुए ब्रह्माकुमारी अनिता दीदी ने बताया कि वेबिनार कार्यक्रम में महाराष्ट्र जोन प्रभारी वरिष्ठ ब्रह्माकुमारी संतोष दीदी, प्रयागराज की ब्रह्माकुमारी मनोरमा दीदी-अध्यक्षा धार्मिक सेवा प्रभाग, इंदौर जोन की मुख्य क्षेत्रीय समन्वयक ब्रह्माकुमारी हेमलता दीदी, श्री 108 स्वामी सच्चिदानंद गिरी महाराज ओंकारेश्वर, ग्लोबल हैप्पीनेस लीडर डॉ. गुरमीत सिंह नारंग, अंतर्राष्ट्रीय कवि प्रो. राजीव शर्मा तथा अन्य होंगे।

दादी प्रकाशमणिजी ने संस्थापक पिताश्री प्रजापिता ब्रह्मा के 18 जनवरी 1969 को देह त्यागने के पश्चात संस्था की मुख्य प्रशासिका का कार्यभार सम्भाला था। दादीजी में नेतृत्व की अपार क्षमता थी। उनके मुख्य प्रशासिका बनने के उपरांत जिस तेजी से ईश्वरीय सेवाओं को सारी दुनिया में विस्तारित कर आगे बढ़ाया वह बेमिसाल हैं। आपके भगीरथ प्रयास से ही आज विश्व के 140 देशों में 8500 से ज्यादा सेवाकेंद्र कार्यरत हैं। वर्ष 1986 में आपके मार्गदर्शन में सारे विश्व में संचालित अभियान “मिलियन मिनट्स ऑफ़ पीस अपील” की सफलता के लिए संयुक्त राष्ट्र ने शांतिदूत पुरस्कार प्रदान किया। इसके अलावा समाज में आध्यात्मिक चेतना जागृत करने के लिए मोहन लाल सुखाड़िया विश्व विद्यालय उदयपुर ने आपको मानद डॉक्टरेट की उपाधि प्रदान कर सम्मानित किया। वे मृत्युपर्यन्त 25 अगस्त 2007 तक मुख्य प्रशासिका के पद पर रही।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Design By Mytesta.com +91 8809666000
.
Close