वायरस गंदे हाथों से कई जगह फैल सकता है: डब्‍ल्‍यूएएसएच

नई दिल्ली कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन की अवधि के दौरान सुरक्षित पेयजल सुनिश्चित करने के लिए डब्‍ल्‍यूपी (पीआईएल) संख्‍या 10808/2020 में उच्चतम न्यायालय के 3.4.2020 आदेश का पालन करते हुए जल शक्ति मंत्रालय के पेयजल और स्‍वच्‍छता विभाग (डीडीडब्‍ल्‍यूएस) ने सभी राज्यों / संघ शासित प्रदेशों को 13 अप्रैल, 2020 को एक परामर्श जारी किया। लॉकडाउन में ढील देने और सामाजिक-आर्थिक गतिविधियां फिर से शुरू होने, विशेष रूप से मानसून के बाद काम करने का मौसम शुरू होने के साथ, पानी की आपूर्ति संबंधी बुनियादी ढाँचाकार्यों का बड़े पैमाने पर कार्यान्‍वयन किया जाना है और गांवों में सभी परिवारों को नल के पानी का कनेक्शन प्रदान करने के लक्ष्य को प्राप्त करने की गति में तेजी लाना है। इसलिए, वायरस को फैलने से रोकने और दबाव से बचने के लिए सभी आवश्यक सावधानियों का पालन करना डब्‍ल्‍यूएएसएच सेवा प्रदाताओं के लिए सबसे जरूरी है।

 

कोविड-19 वायरस सांस की बूंदों या संपर्क के माध्यम से फैलता है, और संक्रमण तब होता है जब गंदे हाथ मुंह, नाक या आंखों के म्यूकोसा (श्लेष्मल झिल्ली) को छूते हैं; वायरस गंदे हाथों से एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान पर भी फैल सकता है, जिससे अप्रत्यक्ष संपर्क संचरण की सुविधा मिलती है। एक दूसरे से शारीरिक दूरी बनाए रखने के साथ, उचित आपूर्ति तक पहुंच सहित मल्टीमॉडल रणनीतियों के माध्यम से संक्रमण का प्रसार कम करने के लिए हाथों को धोकर साफ रखना सबसे प्रभावी एकल उपाय है। कोरोना वायरस फैलने से रोकने के लिए नियमित अंतराल पर हाथ धोकर हाथ साफ रखे जा सकते हैं, लेकिन साथ ही,प्रत्येक ग्रामीण परिवार के परिसर के अंदर नल का पानी उपलब्ध कराने की तत्काल आवश्यकता है।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Design By Mytesta.com +91 8809666000
.
Close