केवल बेटी बचाओ, बेटी बढ़ाओ का नारा देकर नहीं बचेंगी बेटियां: एनपी प्रजापति

भोपाल प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने नरसिंहपुर में एक दलित महिला के साथ हुई दरिंदगी पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि गांधी जयंती जैसे अहिंसा के दिन पर भी एक दलित बेटी को सिर्फ इसलिए अपनी जीवन लीला समाप्त करनी पड़ी क्योंकि वह दरिंदगी का शिकार थी, और पुलिस उसकी रिपोर्ट तक नहीं लिख रही थी। आश्चर्य की बात यह है कि उसी समय मुख्यमंत्री भोपाल में कानून व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे और वहां एक दलित बेटी अपना जीवन समाप्त कर रही थी। यह अहिंसा के पुजारी को मध्यप्रदेश सरकार की श्रृद्धांजलि है।
मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले के चीचली थाना अंतर्गत रिछाई गांव में सामूहिक दुष्कर्म की पीड़ित महिला द्वारा आत्महत्या करने की घटना को लेकर मध्य प्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस नेता एनपी प्रजापति ने शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए पुलिस महकमे में राजनीतिक हस्तक्षेप के आरोप लगाए। एनपी प्रजापति ने कहा कि अधिकारी कर्तव्य का पालन भूलकर नेताओं की परिक्रमा में लग गए हैं। प्रदेश सरकार ट्रांसफर पोस्टिंग में व्यस्त है और कानून व्यवस्था पर किसी का ध्यान नहीं है। जबकि विपक्ष में रहते भाजपा नेता कांग्रेस की कमलनाथ सरकार पर ट्रांसफर उद्योग के आरोप लगाते थे। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कहा कि सामूहिक दुष्कर्म की पीड़ित महिला अपने पति के साथ थाने के चक्कर लगाती रही लेकिन पुलिस ने एक न सुनी जिसके बाद अवसाद में आकर पीड़ित महिला ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कहा कि बेटियों के खिलाफ लगातार बढ़ते अपराधों को लेकर सत्ताधारी मौन हैं, इसलिए ऐसी घटनाएं बढ़ रही हैं। प्रजापति ने सवाल किया कि क्या प्रदेश में पुलिस की डॉयल 100 सुविधा बंद हो गई है जिस पर सरकार हर माह करोड़ों रूपये फूंक रही है। उन्होंने कहा कि हर थाने, पुलिस मुख्यालय में सत्यमेव जयते लिखा होता है क्या पुलिस अधिकारी और कर्मचारी उसे भूल जाते है। उन्होंने कहा कि सनातन धर्म मे पाप और पुण्य को लोग भूल गए है क्या? क्या व्यभिचार करने वाले यह भूल जाते है कि वह पाप कर रहे है। अपनी संस्कृति, सभ्यता और विरासत को हम भूलते जा रहे है।
एनपी प्रजापति ने नरसिंहपुर में महिला के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म की घटना को हाथरस में नाबालिग के साथ हुई घटना से जोड़ते हुए कहा कि क्या पुलिस चिता की आग से अपराधियों के खिलाफ सबूत जुटाएगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार के बेटी बचाओ, बेटी बढ़ाओ, बेटी पढ़ाओ के नारे को अपना तो लिया लेकिन बेटियों की सुरक्षा कैसे हो यह ये सरकारे भूल गई है।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Design By Mytesta.com +91 8809666000
.
Close