असम पुलिस भर्ती परीक्षा पर्चा लीक मामले में पुलिस अधीक्षक गिरफ्तार

गुवाहाटी पूर्वोत्तर राज्य असम में पुलिस भर्ती परीक्षा के पर्चा लीक मामले में पुलिस अधीक्षक एवं राज्य के मुख्य सचिव के भाई कुमार संजीत कृष्णा को गिरफ्तार कर लिया गया। कृष्णा असम सरकार में कार्यरत शीर्ष अधिकारी हैं जिन्हें इस घोटाले के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है। इससे असम विधानसभा चुनाव से महज छह महीने पहले विपक्षी पार्टियों को मुद्दा मिल गया है। कृष्णा के भाई कुमार संजय कृष्णा राज्य के मुख्य सचिव के पद पर कार्यरत हैं। इस संबंध में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि संजीत कृष्णा को अपराध अन्वेषण विभाग (सीआईडी) ने चिकित्सा जांच कराने के बाद गिरफ्तार किया। इससे पहले उनसे गत कुछ दिनों से मैराथन पूछताछ की जा रही थी।  अधिकारी ने कहा, ‘उन्हें कल अदालत में पेश किया जाएगा और हम उनकी हिरासत मांगेंगे।’ उन्होंने बताया कि कृष्णा पूर्वाह्र लगभग 11 बजे उलुबरी क्षेत्र में राज्य पुलिस मुख्यालय पहुंचे और असम पुलिस के शीर्ष अधिकारियों ने उनसे कई घंटे पूछताछ की। उन्होंने कहा कि बुधवार को उनके फरार होने की आशंका थी। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शाम करीब छह बजे सीआईडी के अधिकारी उन्हें अपने मुख्यालय ले गए जो उसी इलाके में असम पुलिस के मुख्यालय से महज 200 मीटर की दूरी पर स्थित है जिसके बाद उनका चिकित्सा परीक्षण कराया गया। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से सोमवार और मंगलवार को कई घंटों तक पूछताछ की गई थी।

 

अधिकारी ने बताया कि कृष्णा करीमगंज जिले के पुलिस अधीक्षक थे जहां अन्य आरोपियों की मौजूदगी में उनके आवास पर उनके इशारे पर प्रश्नपत्र कथित तौर पर लीक किया गया था। इनमें से कुछ आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। कृष्णा के करीमगंज स्थित आधिकारिक आवास की जांच रविवार और मंगलवार को की गई थी जबकि गुवाहाटी स्थित उनके निजी आवास की तलाशी बुधवार को ली गई थी। असम के मुख्य सचिव कुमार संजय कृष्णा ने मंगलवार को फेसबुक पोस्ट में कहा कि अगर उनके भाई ने कुछ गलत किया है तो कानून सबूतों के आधार पर अपना काम करेगा।  उन्होंने कहा, ‘मुख्य सचिव होने के साथ मैं स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच का शुरू से ही समर्थन कर रहा हूं… और मेरा मानना है कि जो भी दोषी हो, उसे न्याय के कटघरे में लाया जाना चाहिए।’ गौरतलब है कि असम पुलिस की कई एजेंसियों ने राज्य के विभिन्न हिस्सों और बाहर से सेवानिवृत्त पुलिस उपमहानिरीक्षक प्रशांत कुमार दत्त और भाजपा नेता दीबान डेका जिन्हें पार्टी ने निष्कासित कर दिया है, सहित 51 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मामले में राज्य में पांच प्राथमिकी दर्ज की हैं। सीआईडी ने अकेले 21 लोगों को गिरफ्तार किया है।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Design By Mytesta.com +91 8809666000
.
Close