कोविड 19 अस्पतालों में मरीजों को मूंग की दाल दिए जाने के लिए निर्देश

ललितपुर जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार की अध्यक्षता में कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।बैठक में सर्वप्रथम विगत 24 घंटे के कोविड परिणामों पर चर्चा हुई, जिसमें मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि आज 1578 टेस्ट किये गए हैं। आज जनपद में 04 धनात्मक केस पाए गए हैं, विगत 24 घण्टे में 16 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। जनपद में कुल 109 एक्टिव केस हैं। मरीजों का रिकवरी रेट 94.66, सीएफआर 1.48 तथा धनात्मकता रेट 1.97 प्रतिशत है।
डोर टू डोर सर्विलांस की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि डोर टू डोर सर्वे में लापरवाही की जा रही है, उन्होंने निर्देश दिए कि लापरवाही करने वाले कर्मियों को चेतावनी जारी कर उसकी एक प्रति मुख्य विकास अधिकारी को उपलब्ध कराएं।कोविड-19 अस्पतालों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि मरीजों को भोजन में सुपाच्य मूंग की दाल दी जाए। साफ सफाई एवं सैनिटाइजेशन की समीक्षा के दौरान अधिशासी अधिकारी नगर पालिका एवं जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा बताया गया कि नगरीय एव ग्रामीण क्षेत्रों में नियमित रूप से सफाई एवं सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है। इस पर जिलाधिकारी महोदय ने निर्देश दिए कि जनपद में सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने के लिए अभियान चलाया जाए। बैठक में अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जनपद में दिनांक 23 अक्टूबर 2020 को दोपहर 01 बजे से दिनांक 24 अक्टूबर 2020 को दोपहर 01 बजे तक कुल 59 वाहनों के चालान किये गए, जिनसे 25300 रु0 की धनराशि वसूली गई। धारा 15(3) के अंतर्गत मास्क न पहनने पर 156 व्यक्तियों के चालान किये गए, जिनसे 18600 रु0 की धनराशि वसूल की गई। धारा 15(5) के अंतर्गत दोपहिया वाहनों पर एक सवारी से अधिक सवारी बैठाए जाने पर 04 व्यक्तियों का चालान किया गया, जिनसे 1000 रु0 की धनराशि वसूल की गई।

 

 

पेयजल आपूर्ति की समीक्षा में जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि पेयजल के संबंध में आ रही शिकायतों का तत्काल निस्तारण कराकर पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। बैठक में जिला मलेरिया अधिकारी ने अवगत कराया कि संचारी रोग अभियान के तहत जनपद में प्रतिदिन टीम द्वारा निरीक्षण कर मच्छरों किया जा रहा है साथ ही जिन स्थानों पर लार्वा पाया जाता है, उसे तत्काल नष्ट किया जा रहा है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि अधिक से अधिक निरीक्षण कर संचारी रोगों के प्रसार को रोका जाए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पांडेय, अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार मिश्र, अपर जिलाधिकारी न्यायिक लवकुश त्रिपाठी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रताप सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (पुरुष) डॉ अमित चतुर्वेदी, जिला विद्यालय निरीक्षक रामशंकर, जिला पंचायत राज अधिकारी अवधेश कुमार, जिला मलेरिया अधिकारी मनोज कुमार, खाद्य सुरक्षा अधिकारी, जिला होम्योपैथिक अधिकारी, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ हुसैन खान, डॉ डीसी दोहरे, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ जेएस बक्शी, जिला सूचना अधिकारी पीयूष चंद्र राय, डॉ राजेश भारती सहित चिकित्सा विभाग के अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Design By Mytesta.com +91 8809666000
.
Close