ई-सिगरेट नुकसानदेह, फिर भी घट नहीं रहा इसका चलन

यूट्यूब पर वीडियो देखने के लिए क्लिक करे और सब्सक्राइब करे …..

नई दिल्ली ई-सिगरेट से स्वास्थ्य को होने वाले नुकसान के बावजूद इसका चलन घटने का नाम नहीं ले रहा है। कई लोगों का मानना है कि ई-सिगरेट सामान्य सिगरेट की तरह नुकसान नहीं करती, लेकिन हाल ही में हुए एक अध्ययन के मुताबिक, ई-सिगरेट में इस्तेमाल होने वाले फ्लेवरिंग लिक्विड दिल को नुकसान पहुंचा सकते हैं। कई बार लोग तंबाकू से होने वाले नुकसान से बचने के लिए ई-सिगरेट चुनते हैं, लेकिन इससे सिर्फ कैंसर ही नहीं बल्कि हार्ट अटैक का खतरा भी रहता है। अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियॉलजी में छपे जर्नल के मुताबिक, ई-सिगरेट में भे ही निकोटिन न हो लेकिन इसमें मौजूद फ्लेवरिंग से ब्लड वसेल के काम करने की क्षमता प्रभावित होती है जिसे दिल की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। इनमें दालचीनी और मेंथॉल सबसे ज्यादा खतरनाक हैं। वहीं कुछ डॉक्टर्स का यह भी कहना है कि एक छोटी सी स्टडी से यह साबित नहीं हो सकता कि वाकई में सिगरेट ऐसा नुकसान पहुंचा सकती है लेकिन सतर्कता जरूर बरती जा सकती है। उल्लेखनीय है कि वर्ल्ड नो टबैको डे से पहले मुंबई में हुई एक रिसर्च में भी कई चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं। सर्वे के मुताबिक ज्यादातर युवा ई-सिगरेट का सेवन दिखाने के लिए करते हैं। कई लोगों को ऐसा लगता है कि ई-सिगरेट के नुकसान कम है इसलिए वे इसका इस्तेमाल करते हैं।

Check Also

ऑटोमोबाइल पर जीएसटी कटौती का प्रस्ताव

🔊 Listen to this यूट्यूब पर वीडियो देखने के लिए क्लिक करे और सब्सक्राइब करे …