महिलाएं सबसे ज्यादा देख रही हैं टीवी

यूट्यूब पर वीडियो देखने के लिए क्लिक करे और सब्सक्राइब करे …..

मुंबई ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल ऑफ इंडिया का दावा है, कि नोटबंदी के बाद भारत की महिलाओं ने टीवी पर ज्यादा सीरियल और धार्मिक चैनल देखना शुरू कर दिए हैं। हिंदी न्यूज़ देखने वालों की संख्या महिलाओं की बढ़ी है। लेकिन अभी भी इनमें मुख्य रुझान टीवी सीरियल, धार्मिक सीरियल, धर्मगुरुओं के प्रवचन को देखने की रुचि बढ़ी है। शहरों में औसत दर्शक अधिकतम 4 घंटे 3 मिनट और 14 सेकंड टीवी देखने में अपना समय बिता रहा है। वहीं ग्रामीण अंचलों में 3 घंटा 23 मिनट टीवी के निमित्त कार्यक्रम देखते हैं।

20 करोड़ लोगों के पास टीवी
रिसर्च काउंसिल के अनुसार देश देश में 29.7 करोड़ घर हैं। इनमें से इसमें से 19.7 करोड़ लोगों के पास टीवी हैं। इनमें से 97 फ़ीसदी घरों में एक ही टेलीविजन सेट है। दक्षिण के राज्यों में टीवी देखने का चलन सबसे ज्यादा है।
हर साल बढ़ रही है टीवी की संख्या
2004 में केवल 8.3 करोड़ लोगों के पास टीवी उपलब्ध थी। 2008 में यह संख्या बढ़कर 10 करोड़ 60 लाख हुई। 2013 में 14 करोड़ 30 लाख घरों में टीवी पहुंची। 2017 में 18 करोड़ 30 लाख परिवारों तथा 2019 में 19 करोड़ 70 लाख परिवारों तक टीवी पहुंच गई है।
देश में 800 से ज्यादा चैनल
भारत में 2005 में केवल 130 टीवी चैनल थे। उसके बाद से लगातार संख्या बढ़ती जा रही है। 2010 में टीवी चैनल की संख्या 265 थी। जो 2013 में बढ़कर 550 हो गई। वर्ष 2018 में भारत में 800 से ज्यादा चैनल प्रसारण कर रहे हैं। रिसर्च काउंसिल इंडिया के अनुसार सबसे ज्यादा टीवी आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में देखी जाती है। यहां पर औसतन 4 घंटे 13 मिनिट टीवी दर्शक देखते हैं।

Check Also

आरे में रात में शुरू हुई पेड़ों की कटाई, लोगों ने विरोध में किया प्रदर्शन, दर्जनों लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया

🔊 Listen to this यूट्यूब पर वीडियो देखने के लिए क्लिक करे और सब्सक्राइब करे …