Breaking News

जघन्य हत्याकांड मामले में रामजग बिंद को मिली सजा-ए-मौत सन 2014 में जमानत पर छुटे बिंद ने की थी दो हत्याएं

राजकिशोर पांडेय

सिंगरौली कार्यालय

न्यायालय द्वारा आज जघन्य कांड के एक दोषी को मौत की सजा सुना दी गई है। दोषी इतना बर्बर था कि उसने बीते दशक में कुल 7 हत्याओं को अंजाम दिया था। प्राप्त जानकारी अनुसार वर्ष 1997 में 5 लोगों की हत्या के मामले में जमानत पर निकले रामजग बिंद पिता रमाशंकर बिंद उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम कुशवई थाना मोरवा ने वर्ष 2014 में ही दिनांक 25 अप्रैल से 30 अप्रैल के बीच कुशवई निवासी उडगंद बिंद पिता स्वर्गीय रूपनारायण बिन एवं शांति बिंद पत्नी उडगंद बिंद की हत्या कर दोनों के शवों को कुएं में फेंक दिया था, जिसकी सूचना लगते ही मोरवा पुलिस ने सघन जांच कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया था। बताया जाता है कि दोनों मृतक बीते हत्याकांड में गवाह थे जिस कारण हत्यारे ने इन्हें बर्बरता से मौत के घाट उतार दिया था। इस जगह ने हत्याकांड में जिला सत्र न्यायालय में तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश श्री सुरेंद्र मेश्राम ने आज ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए आरोपी रामजग बिंदु को दो बार मृत्युदंड का फैसला सुनाया है।

Check Also

राम मंदिर ट्रस्ट में शाह और योगी को शामिल करने का विहिप ने दिया सुझाव

🔊 Listen to this यूट्यूब पर वीडियो देखने के लिए क्लिक करे और सब्सक्राइब करे …